खोज करे
  • Mahesh Beldar

Why to not invest your time in useless things?

एक गाव में एक छोटा परिवार रहता था, माता-पिता और उनके दो बेटे, दोनों बेटो के बिच बहुत प्रेम था, जो बड़ा बेटा था उसे कोई चमत्कारिक सिद्धि प्राप्त करने की बहुत इच्छा थी, सिद्धि प्राप्त करने के लिए एक दिन वह रात को घर छोड़कर चला गया.


उसने ग्यारह सालो तक घर से दूर रहकर जंगलो में एक तपस्वी की तरह तपस्या की और सिद्धि प्राप्त की, एक दिन वह जब अपने गाव से गुजर रहा था तो उसे अपने भाई की याद आई, वह सोचने लगा की अब तो उसका छोटा भाई काफी बड़ा हो गया होगा, न जाने वह क्या करता होगा, उसे अपने भाई को मिलने की इच्छा हुई, लेकिन फिर उसे लगा की शायद उसका छोटा भाई उसे न भी पहचाने, क्युकी वह एक सन्यासी के कपड़ो में था, लेकिन फिर भी वह अपने आप को रोक नहीं पाया और सीधे उसके घर पहुच गया, उसके छोटे भाई ने उसे पहचान लिया, खाना बाना खिलाया और उसके बाद दोनों ने बैठकर बहोत बाते की.


बातो बातो में छोटे भाई ने पूछ लिया की भैया आप इतने सालो तक बाहर रहे, बाहर रहकर आपने किया क्या? बड़े भाई ने कहा की यह में तुमको शाम को बताऊंगा, दोनों नदी किनारे गए, बड़े भाई ने छोटे भाई से कहा की तुम यहाँ रुको, फिर बड़ा भाई नदी की और आगे गया और देखते देखते वह पानी पर चलने लगा और नदी के उस किनारे जाकर वापस आया और आकर छोटे भाई से कहा की देखि मेरी सिद्धि, यह सुन छोटा भाई हसने लगा, उसे हस्ता देख बड़ा भाई आश्चर्य चकित हो गया और पूछा की तुम हंस क्यों रहे हो, छोटे ने कहा की आपने इतने साल लगाकर बस यही सिद्धि प्राप्त की, यह तो आपने किसी नाव वाले को भी १०-२० रूपये दिए होते तो वह भी आपको नदी की शेर कराकर ले आता, इसके लिए ग्यारह साल बिगाड़ने की क्या जरुरत थी.


Time is money so use it properly


ऐसा काम हम भी करते हे, अपना अच्छा खासा समय बिना सोचे समजे फालतू कामो में लगा देते हे, कुछ लोग नहीं कहते की मैंने 5 साल तक gym जाकर ऐसी body बनायीं हे और अब में 100 kg तक वजन उठा लेता हु, अरे भाई यदि तुम्हारा motive वजन उठाना ही था तो वह तो तुम किसी machine से भी उठा सकते हे, उसके लिए 5 साल बिगाड़ने की क्या जरुरत थी.


अब आप सोचे कही आप तो ऐसा कोई काम नहीं कर रहे.





समय बड़ा मूल्यवान हे उसे व्यर्थ कामो में जाया न करे.

5 व्यूज

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें
  • YouTube
  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram

Practical शिक्षा

© 2023 by Practical Shiksha.

Proudly created with practicalshiksha.com

Privacy Policy | Disclaimer

Contact

Ask me anything