खोज करे
  • Mahesh Beldar

Innovative Gym Ideas in Hindi-Gym Owner और Gym Trainer जरुर पढ़े

यहाँ में उन gyms की बात नहीं करने वाला हु जहा बड़ी बड़ी हस्तिया और film stars जाते हे और जहा की fees शायद हजारो-लाखो रूपये होती होगी, लेकिन में उसकी बात करने वाला हु जहा मध्यम वर्गीय लोग जाते हे.


Gym जा रहे व्यक्ति की ज्यादातर सिकायत क्या होती हे?


1) Trainer कुछ सिखाता नहीं हे


2) महीने के कुछ दिन तो में gym जाता नहीं फिर भी मुझे पूरी fees चुकानी पड़ती हे,


कभी कबार machines की मरम्मत जल्दी नहीं होती यह भी सिकायत होती हे.


लेकिन ज्यादातर लोगो की जो common सिकायत होती हे वह हे trainer कुछ सिखाता नहीं, मुझे पूरी fees चुकानी पड़ती हे.



Innovative Gym Ideas


Students को न सिखाने के क्या कारण हो सकते हे?


1) यातो trainer आलसी हे, उसे बार बार अपनी खुर्सी से उठकर students को सिखाना अच्छा नहीं लगता.


2) या Gym में students की संख्या बहुत ज्यादा हे जिसके कारण सभी students पर ध्यान दे पाना काफी मुश्किल होता हे, या कोई और कारण हो सकता हे, जो सिर्फ आपको पता हो.


कारण चाहे जो भी हो इसके solution के लिए आप अपने gym में बड़ी touch screen tv लगा सकते हे या smart tv लगा सकते हे, जैसे की आपने railway station, bus stop, airport वगैरह पर देखा होगा, महंगी नहीं सस्ते से सस्ती tv online या फिर offline खरीदकर लगाइए, उसमे आपको करना यह हे की आपको exercise के हरेक set की videos shoot कर लेना हे, फिर उसे pen drive, memory card या दुसरे किसी storage device में दाल देना हे, और उसे tv से connect कर देना हे, फिर student को जब भी कोई exercise का set देखना होगा तो वह तुरंत tv पर जाकर देख लेगा उसे आपको पूछने की जरुरत नहीं पड़ेगी, काफी लोगो को पूछने में हिचक भी होती हे, इस वजह से भी वह पूछते नहीं, तो उनकी यह समस्या भी हल हो जायेगी, आपको बार बार जाकर students को शिखाना नहीं पड़ेगा.


लगभग सभी नए लोग जो gym join करते हे उन्हें set के बारे मे कुछ पता नहीं होता हे, मतलब की set को सही तरीके से कैसे करना हे वह पता नहीं होता, वह उल्टा सुलटा करते हे और फिर injured हो जाते हे, वह gym आते तो हे body को fit करने के लिए लेकिन unfit हो जाते हे और फिर gym छोड़ देते हे, आप भी अपना एक customer खो देते हे, न सिखाने की वजह से भी काफी लोग gym change कर लेते हे, मैंने भी इस कारण से एक साल में 3 gym change किये हे लेकिन फिर भी हालत वही की वही हे, gym में tv लगाना unique लगेगा जो शायद ही किसी gym में होगा और इस वजह से आपके यहाँ नए customer आकर्षित होकर आयेंगे.


दूसरी सिकायत के solution के लिए आप gym में attendance के लिए punching machine लगा सकते हे जो लगभग सभी companies में होंते हे, या फिर यदि आपको M S excel आती हे तो आप उसमे भी attendance का हिसाब रख सकते हे, मतलब आपका customer जब जब gym आएगा उसकी attendance count होगी, उसको उतने ही पैसे देने होंगे जितने दिन वह gym में आया होगा, इसमें Sunday की fees आपको लेनी हे. इससे आपका थोडा नुकशान होगा और आपको थोडा accounting रखना पड़ेगा लेकिन आपके इस step से आपका customer खुस हो जाएगा, वह आपका gym छोड़कर कभी नहीं जाएगा, यह step दुसरे सभी gyms से unique होगा, और दुसरे लोग भी इसके बारे में जानेगे तो वह भी आपके यहाँ आकर्षित होकर आयेंगे.


आप इसमें कोई scheme रख सकते हे, जैसे हररोज regular gym आने वाले लोगो को आप साल के अंत में कुछ reward या gift दे सकते हे जैसे fees में थोड़ी कमी कर सकते हे या gym से समबनधित कोई accessories दे सकते हे, इससे दोनों का फायदा होगा आपको भी पूरी fees मिलेगी और आपका customer भी regular gym आने के लिए प्रोत्साहित होता जिससे उसकी सेहत को भी फायदा होगा.


में जिस gym में जाता हु वहा कुछ students भी आते हे, उनकी January की 11 तारीख को exam थी, वह gym पहली तारीख से ही बंध हो गये, वह जब एक महीने बाद gym आये मैंने उनसे पूछा की भाई इतने दिन कहा गायब हो गये थे उन्होंने बताया की उनकी exam थी, मैंने पूछा की exam कब थी? उन्होंने जवाब दिया की 11 तारीख को, मैंने उनसे पूछा की लेकिन तुम तो 1 तारीख से ही gym बंध हो गए थे, उन्होंने जवाब दिया की यदि हम 10 तारीख तक gym आते तो हमे पुरे महीने की ही fees देनी पड़ती इसलिए हम 1 तारीख से ही बंध हो गये, क्युकी monthly fees वाले gym में fees एक महिना advance में देनी होती हे.


यह दो ideas जो मुझे लगता हे की आपको फायदा पंहुचा सकते हे और आपको दुसरो से थोडा अलग कर सकते हे, यदि आपके दिमाग में भी ऐसा कोई idea हो तो आप निचे comment कर बता सकते हे.

6 व्यूज
  • YouTube
  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram

Practical शिक्षा

© 2023 by Practical Shiksha.

Proudly created with practicalshiksha.com

Privacy Policy | Disclaimer

Contact

Ask me anything